Home Loan Sanction Letter ( लोन सेंक्शन लेटर ) क्या होता है, बिना इसके नहीं मिल सकता है लोन

4/4 - (1 vote)

Home Loan Sanction Lette

Home Loan Sanction Letter को लोन सेंक्शन लेटर या फिर लोन स्वीकृति पत्र भी कहा जाता है ,अगर आप भी भविष्य में घर लेने की सोच रहें हैं तो होम लोन की प्रक्रिया को समझना बहुत ही जरुरी है |होम लोन की प्रक्रिया को ३ चरणों में पूरा किया जाता है जो इस प्रकार है ..

  • होम लोन (Home Loan ) के लिए आवेदन करना
  • लोन की स्वीकृति
  • लोन का वितरण

होम लोन के लिए आवेदन करने के बाद लोन की स्वीकृति सबसे महत्वपूर्ण चरण है ,क्योंकि यह तब होता है जब आपके लोन को approve या फिर disapprove कर दिया जाता है |

होम लोन के लिए आवेदन करने के बाद में यह प्रक्रिया शुरू हो जाती है |बैंक आवेदन करने वाले के दस्तावेजों को सत्यापित करते हैं और जब ये दस्तावेज सभी मापदंड को पूरा कर लेते हैं तो आवेदक को लोन के लिए approve करने का निर्णय लिया जाता है | इसके बाद में लोन देने वाली कंपनी Home Loan Sanction Letter या फिर स्वीकृत पत्र जारी करता है | ये दस्तावेज इस बात की गारंटी देते हैं कि आप लोन लेने के लिए पात्र हैं |

Home Loan Sanction Letter ( स्वीकृति पत्र ) लोन सैंक्शन लेटर क्या होता है?

लोन सैंक्शन लेटर एक प्रकार का दस्तावेज है जो लोन कंपनी के द्वारा लोन लेने वाले ब्यक्ति को प्रदान किया जाता है ,इसका मतलब यह होता है आवेदक लोन लेने के लिए पात्रता को पूरी कर चूका है | इसमें कुछ नियम और शर्त भी हैं जिसके आधार पर ही आपको लोन प्रदान किया जायेगा जो इस प्रकार है ..

  • होम लोन की राशि कितनी है
  • करंट की ब्याजदर (फिक्स्ड या फ्लोटिंग )
  • ब्याज के लिए आधार दर
  • लोन को चुकाने की अवधि
  • लोन चुकाने का तरीका
  • emi या पूर्व emi भुगतान का विवरण
  • Home Loan Sanction Letter ( लोन सेंक्शन लेटर ) की वैधता
  • टैक्स का लाभ

 

Home Loan Sanction Letter ( लोन सेंक्शन लेटर ) की पूरी प्रक्रिया

होम लोन को प्राप्त करना एक बहुत लम्बी प्रक्रिया है ,लोनधारक को लोन प्राप्त करने के लिए आवश्यक दस्तावेजों को जमा करना होता है ,और इसे सभी मापदंडो से गुजरने के बाद कहीं लोन की स्वीकृति मिलती है | बैंक क्रेडिट ब्यूरो के माध्यम से ये पता लगाते है कि आवेदन कर्ता की साख क्या है ?इसके साथ ही उसकी संपत्ति की हैसियत क्या है ये भी चेक करते हैं |

अगर लोन देने वाली कंपनी इन सबसे संतुष्ट होती है तब वह Home Loan Sanction Letter ( लोन सेंक्शन लेटर )  की स्वीकृति प्रदान करती है और लोन approve हो जाता है | अमूमन लोन की राशि को मिलने में कुछ समय लग सकता है ,इसका कारण दस्तावेजों के सिद्ध होने में देरी या जानकारी की कमी भी हो सकती है ,जिसकी वजह से लोन को रोका भी जा सकता है |

होम लोन लेने से पहले आपका क्रेडिट स्कोर कितना महत्वपूर्ण है ?

जब आप कोई भी लोन लेने की सोच रहे होते हैं तो एक्सपर्ट आपको यही सलाह देते है सबसे पहले आप अपना क्रेडिट स्कोर को जरुर सही कर ले ,क्योकिं यह लोन लेने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है |

हमारे देश में 4 तरह के क्रेडिट ब्यूरो हैं जिनसे आप अपना सिबिल स्कोर या फिर क्रेडिट स्कोर को प्राप्त कर सकते हैं ,ये क्रेडिट ब्यूरो इस प्रकार से हैं ..

  • सीआईबीआईएल
  • एक्स्पिरियन
  • इक्विएक्स और
  • क्रिफ हाई मार्क

क्रेडिट स्कोर 750  और 900 के बीच सबसे अच्छा माना जाता है ,लेकिन अगर क्रेडिट स्कोर 675 से नीचे है और आप होम लेने जा रहे हैं तो आपको अपना क्रेडिट स्कोर को सुधारने की जरुरत है | अगर आप का क्रेडिट स्कोर अच्छा है तो यह आपको लोन लेने में सहायता कर सकता है |

क्रेडिट स्कोर सुधार करने के तत्काल उपाय

अगर आपने पहले कभी लोन ले रखा हो और लोन को चुकाने में देरी हो गयी हो तो ऐसे में आपका सिबिल स्कोर कुछ हद तक खराब हो सकता है |सिबिल स्कोर तब खराब होता है जब आप लोन को चुकाने में देरी करते है या फिर आप बैंक से सेटेलमेंट करवाते है | इन सभी बातो का फर्क आपके क्रेडिट स्कोर पर पड़ता है |

अपना क्रेडिट स्कोर को सही करने के लिए आप सही समय पर अपने emi की राशि को जमा करें और जो भी pending  amount है उसे जमा करें इससे आपका क्रेडिट स्कोर ठीक हो जाता है |

अपना क्रेडिट स्कोर तुरंत चेक करें 

Home Loan Sanction Letter ( लोन सेंक्शन लेटर ) का महत्व क्या है ?

लोन लेने से पहले Home Loan Sanction Letter ( लोन सेंक्शन लेटर ) आपके प्रमाण पत्र के रूप में कार्य करता है यह आपको आपके लोन के बारें में पूरी जानकारी देता है | जिसमे आपकी EMI भी शामिल होती है जिसे आपको हर महीने देनी होती है | इस प्रकार Home Loan Sanction Letter ( लोन सेंक्शन लेटर ) आपके वित्तीय स्थिति के बारें में बताता है |

Home Loan Sanction Letter ( लोन सेंक्शन लेटर ) या स्वीकृति पत्र उन महत्वपूर्ण दस्तावेजों में एक है जिसे आपको अपना घर खरीदने से पहले किसी हाउसिंग सोसाइटी के पास में जमा करना होता है | इसके साथ में ही यह दस्तावेज एक सबूत के रूप में भी कार्य करता है | अगर भविष्य में आवेदनकर्ता और लोन देने वाली कंपनी के बीच में कोई भी विवाद उत्पन्न हो जाता है जो यह दस्तावेज एक सबूत के रूप में कार्य करता है |

Home Loan Sanction Letter ( लोन सेंक्शन लेटर ) का एक प्रारूप

हम यहाँ आपको स्वीकृति पत्र का एक प्रारूप दे रहें हैं जो आपकी सहायता कर सकता है ..

Home Loan Sanction Letter

 

Home Loan Sanction Letter ( लोन सेंक्शन लेटर ) के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • पहचान प्रमाण पत्र – आधारकार्ड ,पैनकार्ड या पासपोर्ट
  • पासपोर्ट साइज़ की फोटो
  • निवास प्रमाण पत्र
  • लेटेस्ट 6 महीने का बैंक स्टेटमेंट
  • पिछले ३ महीने की सैलेरी स्लिप
  • आपकी सम्पति के दस्तावेज
  • लेटेस्ट आयकर रिटर्न फॉर्म

Home Loan Sanction Letter को पाने के बाद क्या होगा ?

गृह लोन स्वीकृति प्राप्त होने के बाद में बैंक या लोन देने वाली कंपनी एक प्रमाण के रूप में प्रस्ताव भेजता है जिसमे होम लोन के महत्वपूर्ण विवरणों का उल्लेख दिया हुआ होता है |अब आवेदनकर्ता को स्वीकृति पत्र पर अपने दस्तखत करके इसे वित्तीय संस्थान में जमा करने की जरुरत होती है |

डिजिटल स्वीकृति पत्र क्या होता है ?

आजकल का जमाना डिजिटल हो गया है जिसमे आपके होम लोन की प्रक्रिया को और भी सरल बना दिया गया है | अब अधिकतर लोन देने वाली कंपनिया ई होम लोन के लिए आवेदन करने के लिए और डिजिटल स्वीकृति पत्र के लिए मांग कर रही है | इसमें आपके समय के बचत के साथ ही पेपरलेस काम भी होता है |

डिजिटल स्वीकृति पत्र प्राप्त करने के लिए पात्रता

  • आवेदनकर्ता भारत का निवासी होना चाहिए
  • वेतनभोगी के लिए कम से कम ३ वर्ष का अनुभव
  • स्व रोजगार लोगों के लिए कम से कम 5 साल तक अपने कारोबार में निरन्तरता जरुरी
  • वेतनभोगी के लिए उम्र सीमा 23 वर्ष से 62 वर्ष तक
  • स्वरोजगार लोगो के लिए उम्र सीमा 25 वर्ष से 70 वर्ष तक
  • आवेदनकर्ता का सिबिल स्कोर 750 या उससे अधिक

हम आपको कुछ जरुरी बाते बताने जा रहें है जिसमे कोई भी ऋण दाता  स्वीकृति पत्र देने से पहले कुछ बातों पर विचार करता है जो इस प्रकार से हैं..

  • आवेदनकर्ता का सिबिल स्कोर
  • आवेदनकर्ता की लोन को चुकाने की क्षमता
  • आवेदनकर्ता की वर्तमान में आय कितनी है
  • आवेदनकर्ता के दस्तावेज की जाँच
  • आवेदनकर्ता की आय का स्रोत क्या है
  • बकाया लोन अगर है तो

Loan Sanction Letter ( लोन सेंक्शन लेटर ) लोन को मंजूर होने का लेटर है जिसकी एक वैधता होती है |लोन को पाने से पहले Loan Sanction Letter ( लोन सेंक्शन लेटर )  प्राप्त करना बहुत ही जरुरी होता है |

कम ब्याज दर पर बात करने के लिए Loan Sanction Letter ( लोन सेंक्शन लेटर )  की आवश्यकता होती है |

Sanction Letter (  सेंक्शन लेटर ) की वैधता

लोन आवेदनकर्ता को ये पता होना बहुत जरुरी है एक स्वीकृति पत्र लोन को प्राप्त करने की कानूनी मंजूरी नहीं होती है | इसे प्राप्त करने के लिए आवेदक को कई मापदंड से गुजरना पड़ता है | एक Sanction Letter (  सेंक्शन लेटर ) / स्वीकृति पत्र की वैधता 6 महीने की होती है अगर इस समय के दौरान लोन नहीं लिया गया तो यह बेकार हो जाता है |

कुछ जरुरी सूचना

आपको यह हमेशा ध्यान रखने की जरुरत है कि अगर आपको स्वीकृति पत्र प्राप्त हो जाता है तो आपको कानूनी तौर पर लोन की मंजूरी नहीं मिल सकती है | लोन को प्राप्त करने से पहले आपको कुछ जरुरी दस्तावेज और कुछ एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर करने की जरुरत पड़ती है |

लोन सेंक्शन लेटर पर्सनल लोन की प्रक्रिया या फिर होम लोन की प्रक्रिया में एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है जिसे आप भविष्य में कही दिखाने के लिए भी उपयोग में ला सकते हैं | कम ब्याजदर पर लोन प्राप्त करने के लिए लोन सेंक्शन लेटर आपका एक अहम् हथियार साबित हो सकता है |

Leave a Comment